Dosti Shayari, Dosti Ki Kami Ko Pehchante Hai

दोस्तों की कमी को पहचानते है हम; दुनियाँ के गमों को भी जानते है हम; आप जैसे दोस्तों के ही सहारे, आज भी हँस कर जीना जानते है हम!! Dosti Ki Kami Ko Pehchante Hai Hum; Duniya Ke Gumo Ko Bhi Jante Hai Hum, Aap Jaise Dosti Ke Hee Sahare, …

Read More »